Kangana Ranaut पर लगा नफरत फैलाने का आरोप, Bombay High Court में याचिका दायर

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) फिर से एक नई मुश्किल में हैं. कंगना रनौत पर देश में नफरत फैलाने का आरोप लगा है. इस मामले को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) में याचिका दायर की गई है.

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. कंगना (Kangana Ranaut) के खिलाफ गुरुवार की शाम बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) में एक याचिका दायर की गई है. इसमें कंगना रनौत पर उनके ट्विटर अकाउंट के जरिए लगातार देश में ‘नफरत और घृणा’ फैलाने का आरोप लगाया गया है.

याचिका में लगाए गए ये आरोप
याचिकाकर्ता की ओर से दायर याचिका में ये साफ तौर पर कहा गया है कि कंगना (Kangana Ranaut) के ट्वीट से देश में लगातार नफरत फैलाने और देशद्रोह फैलाने की कोशिश होती है. इसके साथ ही कहा गया कि देश को उनके अतिवादी ट्वीट्स से विभाजित करने का प्रयास किया जा रहा है. याचिका में कहा गया है कि सोशल मीडिया में उन्होंने एक धर्म विशेष को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.

 

कंगना ने कहा ट्विटर के अलावा भी हैं विकल्प
ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कंगना ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर लिखा कि ट्विटर एकमात्र ऐसा मंच नहीं है, जहां वह अपनी राय दे सकती हैं. कंगना (Kangana Ranaut) ने ट्विटर पर लिखा है, ‘मैं लगातार अखंड भारत की बात कर रही हूं. टुकड़े-टुकड़े गैंग से हर रोज लड़ रही हूं और मुझ पर ही देश बांटने का आरोप लग रहा है. वाह! क्या बात है, खैर मेरे लिए ट्विटर अकेला ऐसा प्लेटफॉर्म नहीं है.’

 

कंगना ने दिया टुकड़े- टुकड़े गैंग को जवाब
उन्होंने कहा, ‘टुकड़े गैंग याद रखना, मेरी आवाज दबाने के लिए तुम्हें मुझे मारना होगा और फिर मैं हर भारतीय के जरिए बोलूंगी और यही मेरा सपना है. तुम जो भी करोगे, मेरा सपना और मकसद ही सच होगा. इसीलिए मैं खलनायकों को प्यार करती हूं.’

पहले भी कंगना के खिलाफ हुई थी याचिका दायर
बता दें, इस तरह का कंगना (Kangana Ranaut) पर ये दूसरा मामला है. बीते दिनों ही कंगना को हाई कोर्ट से बीएमसी विवाद मामले में राहत मिली है. कंगना लगातार ट्विटर पर कोई न कोई नया बयान दे देती हैं, जिसे लेकर विवाद छिड़ जाता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *