Pakistan में रेप पर नया कानून, दोषियों का होगा ‘केमिकल ट्रीटमेंट’

पाकिस्तान (Pakistan) में इमरान खान (Imran Khan) सरकार रेप की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए ये नया कानून लेकर आई है. हालांकि विडंबना ये है कि खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर भी यौन शोषण के आरोप लग चुके हैं.

Pakistan में रेप पर नया कानून, दोषियों का होगा 'केमिकल ट्रीटमेंट'

पाकिस्तान में इमरान खान (Imran Khan) सरकार रेप की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए ये नया कानून (Anti Rape Law) लेकर आई है. हालांकि विडंबना ये है कि खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर भी यौन शोषण के आरोप लग चुके हैं.

 

तीन महीने पहले इमरान खान यह आइडिया लेकर आए
दरअसल, करीब तीन महीने पहले ही इमरान खान यह आइडिया लेकर आए थे, जिसे उनके प्रशासन ने अब कानून का रूप देकर अमलीजामा पहनाया है. मंत्रिमंडल में स्वीकृत होने के बाद पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने भी इस कानून पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

इस कानून के तहत रेप की घटना के छह घंटे के भीतर आरोपी की मेडिकल जांच पूरी की जाएगी. इसके बाद राष्ट्रीय स्तर पर एक रजिस्टर तैयार किया जाएगा, जिसमें बार-बार रेप की घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों का ब्योरा होगा और ट्रायल के चार महीने के भीतर रेप केस का फैसला आ जाएगा.  Chemical Castration का ये कड़ा फैसला इसलिए किया गया है ताकि रेप के मामलों के इन दोषियों की कामोत्तेजना को खत्म किया जा सके. इसके साथ ही रेप पीड़िता का नाम उजागर करना दंडनीय अपराध होगा.

क्या है केमिकल ट्रीटमेंट की प्रक्रिया
रासायनिक बधियाकरण एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें कामोत्तेजना को लगभग खत्म कर दिया जाता है. इस प्रक्रिया में दवाइयों के माध्यम से वृषण में शुक्राणु निर्माण के स्तर को कम कर दिया जाता है. इस प्रक्रिया में न तो शरीर के किसी अंग को बाहर निकाला जाता है और न ही बधियाकरण किया जाता है.

बता दें सितंबर में एक महिला के साथ कुछ लोगों ने उसके दो बच्चों के सामने ही सामूहिक दुष्कर्म किया था. इस वीभत्स घटना के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए.

महिलाओं ने किया विरोध प्रदर्शन
पाकिस्तान की एक स्टूडेंट जरका खान का कहना है कि जब यहां के धर्म गुरु किसी बात को लेकर आवाज उठाते हैं तो सरकार के कान खड़े होते हैं. वहीं एक अन्य  स्टूडेंट इमान फैजल का कहना है कि महिलाओं को बाहर निकलने से पहले सोचना पड़ता है कि वह क्या पहनें, महिलाएं अगर पांच मिनट भी कहीं घूमती हैं, तो कई निगाहें उन्हें घूर रही होती हैं.

दबाव में ही सही, आखिरकार पाकिस्तान सरकार को रेप की बढ़ती घटनाओं को लेकर कड़ा कानून बनाना ही पड़ा. कई बार पुलिस अधिकारी रेप पीड़िता पर ही आरोप लगाते हैं कि वो देर रात बाहर निकलती है और वहां का समाज औरतों के कपड़े और उनके व्यवहार को लेकर काफी संजीदा रहता है.

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर 2017 में उनकी ही पार्टी की एक महिला लाॅ मेकर आएशा गुलालाई ने कई बार यौन शोषण करने का आरोप लगाया था. इस आरोप के बाद इमरान खान के समर्थकों ने उस महिला को काफी भला.बुरा कहा था और दबाव बनाकर आएशा गुलालाई को पार्टी से बाहर निकलवा दिया था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *